पूर्व डीजीपी का विवादित बयान- निर्भया की मां का फिजीक देख कर अंदाजा लगा सकता हूं कि बेटी कितनी सुंदर रही होगी

18
कार्यक्रम में मौजूद कर्नाटक के पूर्व डीजपी एचटी सांगलियान (बाएं) आईपीएस डी रूपा, और निर्भया की मां आशा देवी। (फोटो-Twitter/@D_Roopa_IPS)

सांगलियान महिलाओं की सुरक्षा पर टिप्स देते हुए भी विवादित बयान दे गये। उन्होंने कहा, “यदि आपको किसी ने काबू में कर लिया है, तो आपको सरेंडर कर देना चाहिए, बाद में आप केस फॉलो करें, इस तरह से हम सुरक्षित रह सकते हैं, जिंदगी बचाइए और मरने से बचिए।”

कर्नाटक के पूर्व डीजीपी एचटी सांगलियान अपने एक बयान को लेकर विवादों में आ गये हैं। कर्नाटक की राजधानी बैंगलोर में महिलाओं को सम्मानित करने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने दिल्ली गैंगरेप की शिकार निर्भया की मां को लेकर एक विवादित बयान दिया है। बैंगलोर मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक पूर्व डीजीपी एचटी सांगलियान ने निर्भया की मां आशा देवी के बारे में कहा कि उनका ‘फिजीक’ (काया) बहुत ही सुंदर है और वह ‘सिर्फ अंदाजा लगा सकते हैं कि निर्भया कितनी सुंदर रही होगी।’ बता दें कि 2012 में दिल्ली में निर्भया के साथ रेप की जघन्य वारदात को अंजाम दिया था। अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए निर्भया की मां ने लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी। कार्यक्रम में पूर्व डीजीपी एचटी सांगलियान ने कहा, “मैं निर्भया की मां को देख पा रहा हूं, उनके पास कितनी अच्छी फिजीक है, मैं सिर्फ अंदाजा लगा सकता हूं कि निर्भया कितनी सुंदर रही होगी।”

पूर्व डीजीपी के इस बयान को सुनकर कार्यक्रम में मौजूद कई महिलाएं सकते में आ गईं। इस कार्यक्रम में बैंगलोर की जानी-मानी आईपीएस डी रूपा भी मौजूद थीं। इस कार्यक्रम से जुड़ी तस्वीरें आईपीएस डी रूपा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है। कार्यक्रम में मौजूद एक्टिविस्ट अनिता चेरिया ने कहा कि वह डीजीपी के बयान को सुनकर हैरान रह गईं। वह कार्यक्रम को छोड़कर जाना चाह रहीं थीं, लेकिन निर्भया के माता-पिता का आदर करते हुए उन्होंने ऐसा नहीं किया। हालांकि पूर्व पुलिस ऑफिसर के बयान पर उन्होंने आपत्ति जताई। उन्होंने कहा, “जब पुलिस के टॉप अधिकारी, जो ऊंचा ओहदा रखते हैं, ऐसा बोलना जायज समझते हैं, किसी महिला की शारीरिक काया पर टिप्पणी ठीक समझते हैं, तो हमें बतौर एक समाज लोगों की मानसिकता को बदलने के लिए लंबी दूरी तय करनी होगी।”

सांगलियान पूरे कार्यक्रम के दौरान मौजूद नहीं रहे। सांगलियान महिलाओं की सुरक्षा पर टिप्स देते हुए भी विवादित बयान दे गये। उन्होंने कहा, “यदि आपको किसी ने काबू में कर लिया है, तो आपको सरेंडर कर देना चाहिए, बाद में आप केस फॉलो करें, इस तरह से हम सुरक्षित रह सकते हैं, जिंदगी बचाइए और मरने से बचिए।” बता दें कि 16 दिसंबर 2012 की रात को दिल्ली में फिजियोथेरेपी की छात्रा के साथ चलती बस में रेप की घटना हुई थी। इस घटना ने पूरे देश को झकझोर दिया और लोग सड़कों पर आ गये थे। इस घटना में पीड़िता निर्भया की 29 दिसंबर को इलाज के दौरान मौत हो गई थी।

साभार जनसत्ता