पूर्व मंत्री बोले- भौंकते रहो, मुझे मजा आ रहा है

18
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता व पूर्व वित्‍त मंत्री यशवंत सिन्‍हा। (File Photo)

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा एक बार फिर ट्रोल्स के निशाने पर आए तो उन्होंने एक दूसरा ट्वीट कर उन्हें जवाब दिया। यशवंत सिन्हा ने ट्वीट में लिखा- ”मुझे नहीं पता था कि मेरे एक साधारण ट्वीट को लेकर कई कुत्ते भौंकने लगेंगे।”

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा एक बार फिर ट्रोल्स के निशाने पर आए तो उन्होंने एक दूसरा ट्वीट कर उन्हें जवाब दिया। यशवंत सिन्हा ने ट्वीट में लिखा- ”I did not realise that a simple tweet from me would lead to so many dogs barking. Pl continue to bark. I am enjyoing it. (मुझे नहीं पता था कि मेरे एक साधारण ट्वीट को लेकर कई कुत्ते भौंकने लगेंगे। कृपया भौंकना जारी रखें। मुझे इसमें मजा आ रहा है।)” दरअसल यशवंत सिन्हा ने शनिवार (31 मार्च) को रात के 10.49 बजे एक ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था- ”He cannot fire me because he is scared. (वह मुझे बर्खास्त नहीं कर सकता है क्योंकि वह डरा हुआ है।)” यशवंत सिन्हा के इस ट्वीट पर यूजरों ने उन्हें जमकर ट्रोल करना शुरू कर दिया। कुछ यूजरों ने कमेंट्स में हदें पार कर दीं।

यूजरों ने असंसदीय और अमर्यादित शब्दों का इस्तेमाल करते हुए वरिष्ठ नेता को कमेंट्स में खरी-खोटी सुनाईं। इस पर सिन्हा ने आधी रात के वक्त एक ट्वीट किया, जिसमें लिखा- ”Your abusing me shows I am still relevant. (आपकी गालियां बताती हैं कि मैं अब भी प्रासंगित हूं।)”

इसके बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया, जिसमें भौंकने वाली बात लिखी। एक यूजर ने सिन्हा के पहले वाले ट्वीट को लेकर कमेंट में लिखा- ”आप अकेले नहीं हैं, भारत में आपके जैसे कई बकवास लोग हैं इसलिए चिंता न करें। हर कोई इस प्रकार के लोगों को बर्दाश्त कर रहा है।” इस यूजर के कमेंट का सिन्हा ने जवाब भी दिया। सिन्हा ने लिखा- ”इसमें आपके जैसे बिना नाम और चेहरे के लोग भी शामिल हैं।” महेंद्र नाम के यूजर ने लिखा- ”पद की लालसा आदमी को गद्दार बना देती है।”

त्रिजटा राणा ने लिखा- ”हे भस्मासुर निजी महत्वाकांक्षाओं का पूरा न हो पाना इंसान को पगला देता है तभी उसमें इतना दम्भ प्रस्फुटित होता है।” पुनीत बग्गा ने लिखा- ”बाउजी। कितना ही उछल कूद मचा लो, कोई सुनने वाला नहीं।” इनके अलावा भी लोगों की ढेरों प्रतिक्रियाएं आईं। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी में सिन्हा पर वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी खेमे का होने का आरोप लगता रहा है। उन्हें मोदी विरोधी भी बताया जाता है। सिन्हा पर पूर्व में कई मौकों पर पार्टी लाइन से हटकर बात करने के भी आरोप लगते रहे हैं।