सुप्रीम कोर्ट से मोदी सरकार को झटका, जारी रहेगा SC/ST एक्ट में बदलाव

42
ग्वालियर में भारत बंद के दौरान एक प्रदर्शनकारी पर लाठियां बरसाती पुलिस (फोटो- पीटीआई)

भारत बंद: दिल्ली से सटे गाजियबाद में भी प्रशासन ने स्कूल कॉलेज बंद कर दिया है। मथुरा और आगरा संभाग में कक्षा एक से लेकर आठ तक स्कूल बंद हैं।

भारत बंद के दूसरे दिन मध्य प्रदेश में आज (3 अप्रैल) भी स्थिति तनावपूर्ण है। एमपी सरकार ने ग्वालियर में हालात को संभालने के लिए पैरामिलिट्री फोर्स बुला लिया है और सेना को भी अलर्ट किया गया है। हिंसा से सबसे ज्यादा प्रभावित ग्वालियर के 5 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू जारी है। बता दें कि एमपी में 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान अलग अलग घटनाओं में 8 लोग मारे गये। इनमें से ग्वालियर में तीन, भिंड में तीन और मुरैना में एक शख्स शामिल है।उत्तर प्रदेश में हालात काबू में हैं। यूपी में अब तक 2 लोगों की मौत हो चुकी है।  यहां भी आज एहतियातन कई जगहों पर स्कूल कॉलेज बंद रखे गये हैं। मेरठ में स्कूल कॉलेज और इंटरनेट बंद है। दिल्ली से सटे गाजियबाद में भी प्रशासन ने स्कूल कॉलेज बंद कर दिया है। मथुरा और आगरा संभाग में कक्षा एक से लेकर आठ तक स्कूल बंद हैं।

यूपी पुलिस का कहना है कि हिंसा और प्रदर्शन में करीब 35 से 40 पुलिसकर्मी और 30 से 35 प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं तथा सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। मुजफ्फरपुर, मेरठ, हापुड़ और आगरा में 448 लोगो को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। इन जिलों में अतिरिक्त पुलिस बल भी भेजा गया है। इन जिलों में सोशल मीडिया पर भी निगरानी रखी जा रही है।

-दलित मुद्दे पर केन्द्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। एसएसी/एसटी एक्ट में बदलाव पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया है। आज इस मामले की सुनवाई के दौरान अदालत ने सभी पक्षों से दो दिन में जवाब देने को कहा है। मामले की अगली सुनवाई 10 दिन बाद होगी।

-बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि पार्टी दलितों की हितों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि बीजेपी बाबासाहेब द्वारा दलितों को दिये गये संवैधानिक अधिकारों की रक्षा करेगी। अमित शाह ने इस मुद्दे पर एक के बाद एक कई ट्वीट किये। उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार ने एससी-एसटी कानून के प्रावधानों को और भी कड़ा किया है।

-मध्य प्रदेश के आईजी लॉ एंड ऑर्डर मकरंद देउस्कर ने कहा है कि 2 अप्रैल को दलितों के प्रदर्शन के दौरान गोलियां चलाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। जिस प्रदर्शनकारी पर पुलिस ने गोलियां चलाई थी बाद में उसकी मौत हो गई थी।

-कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का बयान- केन्द्र सरकार ने कोर्ट के पुराने फैसले पर रोक लगाने की मांग की है, और इस मामले की सुनवाई खुली अदालत में करने की मांग की है। इस मामले में सुनवाई आज 2 बजे से होगी।

-राजनाथ सिंह ने कहा कि शांति बनाने के लिए केन्द्र राज्य सरकार को हर तरह की मदद देने को तैयार है। उन्होंने कहा कि केन्द्र एससी-एसटी समुदाय के लोगों की हितों को लेकर संवेदनशील है।

-राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार की तत्परता पर किसी को संदेश नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि एससी एसटी  आरक्षण पर फैलाई जा रही अफवाहे बेबुनियाद है। उन्होंने लोगों से शांति की अपील की।

-लोकसभा में गृहमंत्री राजनाथ सिंह का बयान-एससी एसटी एक्ट में कोई बदलाव नहीं। राजनाथ सिंह ने कहा कि एससीएसटी एक्ट को और भी मजबूत किया गया है। उन्होंने कहा कि नये अपराधों को भी इस कानून में जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट में दी है।

-प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने मामले को अपराह्न् 2 बजे सूचीबद्ध करने का निर्देश देते हुए कहा कि मामले की सुनवाई खुली अदालत में होगी। इसकी सुनवाई प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित व न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल की खंडपीठ करेगी।

-एससी/एसटी एक्ट पर केन्द्र सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई पुनर्विचार याचिका पर अदालत ओपन कोर्ट में सुनवाई के लिए राजी हो गया है।

-भारत बंद के दौरान 2 अप्रैल को देशभर में हुई हिंसा पर लोकसभा में गृहमंत्री राजनाथ सिंह बयान देंगे।

-केन्द्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा है कि केन्द्र दलितों के अधिकारों की रक्षा और उनकी सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि जहां कहीं भी कांग्रेस सत्ता में रही है वे लोगों को भड़काने और हिंसा फैलाने के लिए जिम्मेदार रहे हैं।

साभार जनसत्ता