राहुल गांधी के दौरे से हाड़ौती, शेखावाटी की 38 सीटों पर कांग्रेस की नजर- क्या चलेगा राहुल का जादू ?

0

जयपुर- कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी राजस्थान के दो दिवसीय दौरे से वापस दिल्ली लौट चुके हैं. राहुल गांधी ने हाड़ौती और शेखावाटी में रोड शो और सभाओं को संबोधित किया राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के सबसे बड़े चेहरे राहुल गांधी के जरिए राजस्थान कांग्रेस की नजर हाड़ौती और शेखावाटी की 38 सीटों पर है. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का दो दिवसीय राजस्थान दौरा खत्म हो गया है. राहुल गांधी ने हाड़ौती और शेखावाटी में ना केवल रोड शो किए बल्कि चार अलग-अलग सभाओं को भी संबोधित किया. इस दौरान कई जगहों पर राहुल गांधी का स्वागत भी हुआ. सवाल यह है कि राहुल गांधी के इस दो दिवसीय दौरे से कांग्रेस को क्या हासिल हो पाया है.

दरअसल, राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सबसे बड़ा चेहरा राहुल गांधी चौथी बार राजस्थान के दौरे पर आए. आचार संहिता लगने के बाद यह उनका दूसरा दौरा था. अपने इन चारों कार्यक्रमों में राहुल गांधी ने हाड़ौती से लेकर बीकाणा, शेखावाटी और पश्चिमी राजस्थान के अलावा पूर्वी राजस्थान के जिलों को भी छूने की कोशिश की है. राहुल गांधी का चौथा दो दिवसीय दौरा हाड़ौती और शेखावाटी पर केंद्रित रहा. जिसमें हाड़ौती की 17 और शेखावाटी की 21 विधानसभा सीटों पर असर डालने की कोशिश रही. हाड़ौती और शेखावाटी अंचल रहे हैं जो कभी कांग्रेस के गढ़ हुआ करते थे लेकिन पिछले कुछ सालों में यहां कांग्रेस की सियासत हाशिये पर नजर आई है. हाड़ौती में कांग्रेस अपनी खोई हुई जमीन को फिर से हासिल करने की कवायद में है. वहीं शेखावाटी में वो अपनी पुरानी रंगत और दबदबे को पाने की जद्दोजहद में दिखाई दिए.

राहुल गांधी के दो दिवसीय कार्यक्रमों के दौरान दो बड़ी सभाओं और तीन छोटी सभाओं का आयोजन हुआ. इन सभी जगहों पर राहुल गांधी बेहद आक्रामक अंदाज में नजर आए. दोनों ही जगहों पर आयोजित कार्यक्रमों में राहुल गांधी जहां राफेल डील के मामले से लेकर सीबीआई में भ्रष्टाचार और नोटबंदी जैसे राष्ट्रीय मुद्दों पर मुखर रहे. वहीं हाड़ौती अंचल में लहसुन और मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र में विकास कार्य नहीं होने का मुद्दा उन्होंने उठाया. शेखावाटी में राहुल गांधी ने वीर शहीदों को नमन किया शेखावाटी के इतिहास की बात की तो यहां के किसानों को रोजगार देने के लिए प्रत्येक जिले में फूड प्लांट लगाने की भी बातें कही गई. लेकिन राहुल गांधी के दोनों ही कार्यक्रमों में स्थानीय मुद्दों की उतनी अधिक भरमार नजर नहीं आई. भाषण का अधिकांश हिस्सा नरेंद्र मोदी पर हमला करने में ही राहुल गांधी ने निकाला. शेखावाटी की सभा में राफेल डील को लेकर राहुल गांधी ने बात की लेकिन वन रैंक वन पेंशन के मसले पर राहुल गांधी चुप रहे. सीमा पर होने वाले शहीदों के मामले पर भी राहुल गांधी ने कुछ नहीं कहा स्थानीय कार्यकर्ताओं को राहुल गांधी के इन मुद्दों की अनदेखी से जरूर निराशा हुई है.

राहुल गांधी के इस कार्यक्रम के दौरान दोनों ही जगहों पर पार्टी के टिकट के दावेदारों का शक्ति प्रदर्शन नजर आया. वहीं अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच राहुल गांधी के नजदीकी होने की सियासत भी समझी गई. लेकिन इन कार्यक्रमों के दौरान एक खास बात नज़र आई है वह यह है कि राहुल गांधी इस बार राजस्थान के इन दोनों में एक अलग ही अंदाज में नजर आ रहे हैं जनता के साथ उनका संवाद बेहतर हुआ है लेकिन यह गांव में विधानसभा चुनाव ही बताएगा की 38 विधानसभा सीटों पर राहुल गांधी के दौरे का क्या असर रहेगा और कितनी सीटें कांग्रेस के खाते में जा पाएंगी.

और खबरें देखने के लिए लोग ऑन करें www.tezaawaz.com